BLK Hospital

Home > News > Air Pollution: प्रदूषित हवा कैसे फेफड़े के कैंसर का रिस्क बढ़ा रही

Air Pollution: प्रदूषित हवा कैसे फेफड़े के कैंसर का रिस्क बढ़ा रही

11/07/2020

लंग कैंसर यानी फेफड़े के कैंसर के मामले लगातार बढ़ रहे हैं. ग्लोबोकैन की रिपोर्ट बताती है कि साल 2018 में फेफड़ों के कैंसर के भारत में 67,795 नये केस रिपोर्ट किए गए. इसी दौरान फेफड़े के कैंसर से मरने वालों की संख्या 63,475 रही.

अमेरिकन इंस्टीट्यूट ऑफ कैंसर रिसर्च के मुताबिक साल 2018 में कैंसर के नए मामलों में सबसे ज्यादा लंग कैंसर के मामले सामने आए.

फेफड़े के कैंसर के बढ़ते मामलों में प्रदूषित हवा की भूमिका भी बढ़ रही है. कैंसर के पर्यावरणीय रिस्क फैक्टर जैसे बढ़ता एयर पॉल्यूशन लंबे समय से चिंता का विषय रहा है.

लंग कैंसर के एक चौथाई ऐसे मरीज जिन्होंने कभी स्मोकिंग नहीं की!

स्मोकिंग करने वालों को लंग कैंसर होने का रिस्क 15 से 30 गुना बढ़ जाता है, लेकिन स्मोकिंग न करने वाले भी फेफड़े के कैंसर से पीड़ित हो रहे हैं.

https://fit.thequint.com/hindi/cancer-news/air-pollution-increases-risk-of-lung-cancer?utm_source=WhatsApp_mWEB&utm_medium=Social&utm_campaign=socialsharebuttons&utm_content=bbfc98ef-b9f7-4279-a20c-39650a0b1e19_1604556940634